नोटेबंदी पर RBI की भविष्यवाणी कैसे हुई सच? | हमारा पैसा हमारा हिसाब

नोटबंदी की बात करने से केंद्र सरकार हमेशा कतराती रही है। लेकिन पिछले हफ्ते जब सुप्रीम कोर्ट ने नोटबंदी के खिलाफ याचिका पर सुनवाई शुरू की तो उन्हें मजबूर होना पड़ा। केंद्र सरकार ने...

चकाचौंध की कीमत

क्या आपने कभी सोचा है कि जो बिजली आपके जीवन को रोशन और सुविधाजनक बनाती है वही हज़ारों लोगों और वन्य जीव जंतुओं की बदहाली का कारण भी बन सकती है ?

महंगाई का पारा कैसे चढ़ा? क्या रिज़र्व बैंक कभी बताएगा?

मुद्रास्फीति को 6% की सीमा तोड़े 9 महीने से अधिक समय गुजर चुका है। कानून के अनुसार, आरबीआई को महंगाई को नियंत्रित न कर पाने पर अपनी विफलता पर सरकार को जवाब देना चाहिए।

विश्व भूखमरी सूचकांक | क्या सरकार के पास अपना कोई डाटा नहीं?

दुनिया भर के लोगों की खुशहाली बयां करने वाली विश्व भुखमरी सूचकाँक रिपोर्ट ने भारत को 121 देशों में से 107वां स्थान दिया। सरकार ने एक बयान जारी कर इस रिपोर्ट को गलत बताया...

स्मार्ट सिटी मिशन का क्या हुआ? | हमारा पैसा हमारा हिसाब

कड़े परिश्रमों से लांच किया गया स्मार्ट सिटी का मिशन फ्लॉप साबित हुआ है। 2 लाख करोड़ का प्रोजेक्ट 7 साल बाद भी पूरा होने से कोसों दूर दिख रहा है! स्मार्ट सिटी का...

मुफ्त की रेवड़ियों से किसको है डर | हमारा पैसा हमारा हिसाब

प्रधानमंत्री से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक मुफ्त सुविधाओं के खिलाफ आम सहमति बनती दिख रही है। गरीबों के लिए मुफ्त या सब्सिडी वाला अनाज, बिजली या स्वास्थ्य सेवाएं अचानक सभी वित्तीय चिंताओं का मूल...

भुखमरी की चपेट में दुनिया | हमारा पैसा हमारा हिसाब

पूरी दुनिया खाद्य संकट से जूझ रही है। अगले साल खाद्य उत्पादन में और भी कमी आने की आशंका है। यानि की खाद्य सामग्रियों की कीमतें बढ़ जाएंगी। मुक्त व्यापार पर आधारित अंतर्राष्ट्रीय संधियों...